SELECT `books`.`bookid`, `books`.`categoryid`, `books`.`title_hindi`, `books`.`authors_hindi` as author_hindi, `books`.`title_eng`, `books`.`authors_eng` as author_eng, `categories`.`category_eng`, `categories`.`category`, `books`.`bimage`, `books`.`shortdesc`, `books`.`engdesc`, `books`.`cost_in`, `books`.`cost_us`, `books`.`ourprice_in`, `books`.`rent_cost_in`, `books`.`rent_cost_us`, `books`.`ourprice_us`, `books`.`bimage_M`, `books`.`bimage_L`, `books`.`authorid`, `books`.`book_pdf_file`, `books`.`book_for_buy`, `books`.`book_for_rent`, `books`.`book_for_library` FROM (`books`) JOIN `authorlist` ON `books`.`authorid` = `authorlist`.`authorid` JOIN `book_multi_categories` ON `books`.`bookid` = `book_multi_categories`.`book_id` JOIN `categories` ON `categories`.`categoryid` = `books`.`categoryid` WHERE (categories.categoryid= 1 OR book_multi_categories.category_id=1) AND `books`.`book_type` = 1 AND `books`.`book_for_library` = '1' GROUP BY `books`.`bookid` ORDER BY `books`.`bookid` DESC LIMIT 20, 10 Newly added Hindi books - नई हिन्दी पुस्तकें
लोगों की राय

नई पुस्तकें

संतुलित जीवन के व्यावहारिक सूत्र

श्रीराम शर्मा आचार्य

मन को संतुलित रखकर प्रसन्नता भरा जीवन जीने के व्यावहारिक सूत्रों को इस पुस्तक में सँजोया गया है

  आगे...

रविवार व्रत कथा

गोपाल शुक्ला

सभी मनोकामनाओं की पूर्ति हेतु रविवार का व्रत श्रेष्ठ है

  आगे...

रवि कहानी

अमिताभ चौधुरी

रवीन्द्रनाथ टैगोर की जीवनी

  आगे...

रश्मिरथी

रामधारी सिंह दिनकर

रश्मिरथी का अर्थ होता है वह व्यक्ति, जिसका रथ रश्मि अर्थात सूर्य की किरणों का हो। इस काव्य में रश्मिरथी नाम कर्ण का है क्योंकि उसका चरित्र सूर्य के समान प्रकाशमान है

  आगे...

प्रेमी का उपहार

रवीन्द्रनाथ टैगोर

रवीन्द्रनाथ ठाकुर के गद्य-गीतों के संग्रह ‘लवर्स गिफ्ट’ का सरस हिन्दी भावानुवाद

  आगे...

पंचतंत्र

विष्णु शर्मा

भारतीय साहित्य की नीति और लोक कथाओं का विश्व में एक विशिष्ट स्थान है। इन लोकनीति कथाओं के स्रोत हैं, संस्कृत साहित्य की अमर कृतियां - पंचतंत्र एवं हितोपदेश।

  आगे...

मुल्ला नसीरुद्दीन के कारनामे

विवेक सिंह

हास्य विनोद तथा मनोरंजन से भरपूर मुल्ला नसीरुद्दीन के रोचक कारनामे

  आगे...

मुल्ला नसीरुद्दीन के चुटकुले

विवेक सिंह

मुल्ला नसीरूद्दीन न केवल हँसोड़ था, बल्कि वह अच्छा हकीम भी था और सामान्य लोगों के सुख-दुःख में सदा भागीदार भी बनता था, इसलिए वह अत्यन्त लोकप्रिय था।

  आगे...

मूछोंवाली

मधुकान्त

‘मूंछोंवाली’ में वर्तमान से दो दशक पूर्व तथा दो दशक बाद के 40 वर्ष के कालखण्ड में महिलाओं में होने वाले परिवर्तन को प्रतिबिंबित करती हैं ये लघुकथाएं।

  आगे...

मीडिया हूं मैं

जयप्रकाश त्रिपाठी

कुछ तो होगा, कुछ तो होगा, अगर मैं बोलूंगा, न टूटे, न टूटे तिलिस्म सत्ता का, मेरे अंदर का एक कायर टूटेगा।

  आगे...

 

 < 1 2 3 4 5 >  Last ›  View All >> इस संग्रह में कुल 90 पुस्तकें हैं|