मीडिया हूं मैं - जयप्रकाश त्रिपाठी Media Hu Mai - Hindi book by - JaiPrakash Tripathi
लोगों की राय

पत्र एवं पत्रकारिता >> मीडिया हूं मैं

मीडिया हूं मैं

जयप्रकाश त्रिपाठी


E-book On successful payment file download link will be available
प्रकाशक : भारतीय साहित्य संग्रह प्रकाशित वर्ष : 2016
पृष्ठ :1436
मुखपृष्ठ : ई-पुस्तक
पुस्तक क्रमांक : 9834

Like this Hindi book 0

कुछ तो होगा, कुछ तो होगा, अगर मैं बोलूंगा, न टूटे, न टूटे तिलिस्म सत्ता का, मेरे अंदर का एक कायर टूटेगा।

यह पुस्तक नहीं, अभियान है। पत्रकारिता के एक-एक छात्र, नयी पीढ़ी के एक-एक पत्रकार तक पहुंचना इस पुस्तक का पहला और अंतिम लक्ष्य है, ताकि पत्रकारिता की आत्मा को रौंद रहे बाजार का कुरूप चेहरा हमेशा के लिए हमारे बीच से ओझल हो जाये। यह पुस्तक उनके लिए, उन साथियों के नाम, जो पत्रकारिता के मूल्यों पर निछावर हो गये, जिन साथियों के परिजन अनायास अपने पत्रकार संरक्षकों के न होने की कीमत चुकाने के लिए विवश हैं, और जो साथी आज पत्रकारिता के मूल्यों को बचाने की जद्दोजहद में शामिल हैं....

प्रथम पृष्ठ

लोगों की राय

No reviews for this book